9वीं- 11वीं में फेल हुए स्टूडेंट्स को मिलेगा दूसरा मौका, स्कूलों को दोबारा परीक्षा आयोजित कराने के दिए निर्देश


  • स्कूल यह खुद तय करें कि ऐसे स्टूडेंट्स की परीक्षा ऑनलाइन ली जाए या ऑफलाइन: बोर्ड
  • 10वीं-12वीं की बची परीक्षाएं रद्द, 15 जुलाई तक रिजल्ट जारी करेगा बोर्ड

दैनिक भास्कर

Jul 02, 2020, 04:13 PM IST

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) ने स्कूलों से 9वीं- 11वीं में फेल हुए स्टूडेंट्स के लिए दोबारा परीक्षा कराने का फैसला किया है। इसके तहत बोर्ड ने स्कूलों को असफल हुए स्टूडेंट्स का फिर से टेस्ट लेने के निर्देश दिए। वहीं, इसके लिए स्कूलों को यह खुद तय करना होगा कि ऐसे स्टूडेंट्स की परीक्षा ऑनलाइन ली जाए या ऑफलाइन। साथ ही स्कूल चाहें तो स्टूडेंट्स को इनोवेट‍िव टेस्ट के जरिए भी प्रमोट कर सकते हैं। परीक्षा के लिए स्कूल बच्चों को तैयारी का उचित समय भी देंगे। ये नियम CBSE से संबद्ध सभी स्कूलों पर लागू होगा।

बोर्ड ने जारी किया नोटिफिकेशन

इस बारे में जारी एक नोटिफिकेशन में बोर्ड ने यह भी कहा कि स्कूलों को गुमराह किया जा रहा है कि जब तक दिल्ली हाईकोर्ट में दायर रुकमिणी देवी पब्लिक स्कूल बनाम सीबीएसई केस निस्तारण नहीं होता है, तब तक स्कूलों को अधिसूचना का पालन करने की कोई जरूरत नहीं है। स्कूल ऐसी बातों पर विश्वास न करें और 9वीं- 11वीं के स्टूडेंट्स के लिए अवसर बढ़ाएं। इस बारे में बोर्ड स्कूलों को मई में भी निर्देश दिए गए थे। जिसके बाद अब फिर से पत्र लिख कर इसका सख्ती से पालन करने को रहा है।

10वीं-12वीं की परीक्षाएं रद्द

इससे पहले बोर्ड ने 9वीं और 11वीं के स्टूडेंट्स को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर पास करने का फैसला लिया था। लेकिन, इसमें फेल होने वाले स्टूडेंट्स को अगली क्लास में जाने के लिए दूसरा मौका देने की भी बात कहीं थी। वहीं, हाल ही में बोर्ड 10वीं-12वीं की बची परीक्षाओं को भी रद्द करने का फैसला किया। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब बोर्ड असेसमेंट स्कीम के आधार पर 15 जुलाई तक नतीजे जारी करेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top