800 साल पुरानी ब्रिटेन की सबसे अमीर कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में तनख्वाह देना मुश्किल, सरकार से मांगी मदद

  • अंतरराष्ट्रीय स्टूडेंट्स की संख्या में आई गिरावट की वजह से गहराया वित्तीय संकट
  • इस साल ऑनलाइन क्लासेस आयोजित करेगी 800 साल पुरानी यूनिवर्सिटी

दैनिक भास्कर

May 28, 2020, 04:20 PM IST

ब्रिटेन के सबसे बड़े और अमीर उच्च शिक्षा संस्थानों में से एक कैंब्रिज यूनिवर्सिटी पर भी कोरोना महामारी का असर देखने को मिल रहा है। दरअसल यूनिवर्सिटी महामारी के चलते वित्तीय संकट से जूझ रही है और उसके सामने अपने कर्मचारियों को सैलरी देने का संकट पैदा हो गया है। डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक अब यूनिवर्सिटी ने सरकार से मदद मांगी है।

विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रोफेसर स्टीफन टूप ने महामारी की वजह से संस्था को करोड़ों पाउंड का नुकसान होने की आशंका जताई है। इस बारे में उन्होंने सभी कर्मचारियों और स्टूडेंट्स को एक ईमेल में बताया कि वेतन रुकने और कटौती जैसी स्थिति से बचने के लिए वह सरकार से सहायता की उम्मीद कर रहे हैं। 

अंतरराष्ट्रीय स्टूडेंट्स की संख्या में आई गिरावट

उन्होंने यह भी बताया कि अगला शैक्षणिक साल यूनिवर्सिटी के लिए तनावपूर्ण रह सकता है। दरअसल, महामारी की वजह से अंतरराष्ट्रीय स्टूडेंट्स की संख्या में आई गिरावट की वजह से विश्वविद्यालय को यह वित्तीय संकट झेलना पड़ रहा है। अपने ईमेल में प्रोफेसर टूप ने यह भी लिखा कि यूनिवर्सिटी में फंड की कमी के कारण और लम्बे समय चलने वाली आर्थिक मंदी की वजह से विश्वविद्यालय में महत्वपूर्ण बदलावों की आवश्यकता होगी।

इस  साल ऑनलाइन लेक्चरर्स लेगी यूनिवर्सिटी

पिछले हफ्ते ही यूनिवर्सिटी ने इस पूरे वर्ष ऑनलाइन लेक्चरर्स आयोजित करने का फैसला लिया था। इसके बाद अब 800 साल पुरानी इस यूनिवर्सिटी में कई तरह की खर्च कटौती को लेकर भी विश्लेषण किया जा रहा है। आंकड़ों के मुताबिक सोशल डिस्टेंस जैसे हालात  सितंबर तक रहने पर 5 में से 1 स्टूडेंट्स ने इस साल पढ़ाई ड्राप करने का फैसला किया है।

विशेषज्ञों के मुताबिक यदि ऐसा होता है तो ब्रिटेन के विश्वविद्यालयों को करीब 760 मिलियन पाउंड का नुकसान हो सकता है। वही इस बारे में जब प्रधानमंत्री से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि उम्मीद है कि अगले साल तक सभी विश्वविद्यालयों में क्लासरूम पढ़ाई हो सकेंगी।  

सालाना 2.3 बिलियन पाउंड का खर्च

मौजूदा समय में कैंब्रिज के केंद्रीय विश्वविद्यालय के रखरखाव जमा फंड (एंडॉवमेंट फंड) 3.4 बिलियन पाउंड का है, जबकि यूनिवर्सिटी के पास 5.2 बिलियन पाउंड की कुल संपत्ति है, जिसमें अचल संपत्तियां भी शामिल है। यूनिवर्सिटी की तमाम गतिविधियों में सालाना 2.3 बिलियन पाउंड खर्च किया जाता है।

5 thoughts on “800 साल पुरानी ब्रिटेन की सबसे अमीर कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में तनख्वाह देना मुश्किल, सरकार से मांगी मदद”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top