16 मार्च से शुरू होंगी यूपी बोर्ड की कॉपी चैकिंग, 103 परीक्षकों को मूल्यांकन प्रक्रिया से किया वंचित

दैनिक भास्कर

Mar 09, 2020, 11:56 AM IST

एजुकेशन डेस्क. यूपी बोर्ड की परीक्षाएं होने के बाद अब कॉपियों की चैकिंग की तैयारियां की जा रही है। इसके लिए मूल्यांकन की पूरी मॉनिटरिंग लखनऊ से की जाएगी। राज्य में कॉपी चैकिंग के लिए बनाए गए 5 केंद्रों में 16 मार्च 10वीं और 12वीं की कॉपियों की जांच की सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में की जाएंगी। इस बार 24 अप्रैल तक यूपी बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट घोषित होने की संभावना है। इस बार मूल्यांकन केंद्रों में 12 लाख कॉपियां चैक की जाएंगी। इसके लिए केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे आदि की मरम्मत की जा रही है। साथ ही इस दौरान केंद्रों पर पुलिस बल भी तैनात किए जाएंगे।

103 परीक्षक मूल्यांकन प्रक्रिया में नहीं होंगे शामिल 
वहीं मूल्यांकन की प्रक्रिया शुरू होने से पहले राज्य माध्यमिक शिक्षा परिषद ने परीक्षा के दौरान अनियमितताओं और लापरवाही में लिप्त पाएं गए कुल 103 परीक्षकों को मूल्यांकन की प्रक्रिया में शामिल होने से रोक दिया हैं। इनमें आगरा से 12, मेनपुरी से 53, एटा से 11, अलीगढ़ से 26 और मथुरा से 1  परीक्षक शामिल हैं। परिषद के मुताबिक इन परीक्षकों में उनके नाम शामिल है जो पिछले साल मूल्यांकन और इस साल परीक्षा के दौरान अनियमितताओं और लापरवाही में लिप्त पाएं गए। 

4.5 लाख से ज्यादा ने छोड़ी परीक्षा
वहीं, इससे पहले उत्तर प्रदेश के 5 जिलों के 72 एग्जाम सेंटर्स पर हुई 10वीं- 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद्द कर दी गईं। परीक्षा हुई अनियमितता के चलते डिस्ट्रिक इंस्पेक्टर ऑफ स्कूल ने यह फैसला लिया। परीक्षा में पाईं गई विसंगतियों के बाद प्रयागराज,बलिया, गाजीपुर, मऊ और अलीगढ़ में हुई परीक्षा को रद्द कर दिया गया था। इस बार यूपी बोर्ड की परीक्षा में 56 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कराया था। इसमें से करीब 4,68,804 बच्चों ने परीक्षा में सख्ती के चलते एग्जाम्स छोड़ दिया।
 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top