12वीं की परीक्षाओं को लेकर आज भी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, बोर्ड बताएगा कि स्टूडेंट्स के लिए क्या विकल्प होंगे

दैनिक भास्कर

Jun 26, 2020, 10:47 AM IST

सीबीएसई बोर्ड की 12वीं की बाकी बची परीक्षाओं को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट में लगातार दूसरे दिन सुनवाई चल रही है। गुरुवार को हुई सुनवाई में बोर्ड ने 10वीं-12वीं की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला कोर्ट को बताया गया था। दो जजों की बेंच इस पूरे मामले में बोर्ड और बच्चों का पक्ष सुनकर आज सारी स्थितियां साफ कर सकती है।

हालांकि, अभी इस बारे में सीबीएसई की तरफ से मार्किंग सिस्टम के साथ ही रिजल्ट की डेट आज होने वाली सुनवाई के दौरान बताई जा सकती है। वहीं, सीबीएसई के अलावा आईसीएसई बोर्ड की परीक्षाओं पर भी सुबह 10.30 बजे से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। आज इस मामले की सुनवाई जस्टिस ए.एम. खानविलकर की अध्यक्षता वाली बेंच कर रही है।

इस बारे में बोर्ड का पक्ष रख रहे सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने गुरुवार को बताया था कि अब इन पेपरों के लिए इंटर्नल एसेसमेंट या प्री-बोर्ड के आधार मार्स्क दिये जाने के निर्णय के बाद 15 जुलाई तक सीबीएसई 10वीं और 12वीं के नतीजे घोषित कर सकती है।

सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?

  • 12वीं की परीक्षा के बारे में सीबीएसई नोटिफिकेशन जारी करे।
  • अभी इंटरनल असेसमेंट और बाद में बचे हुए पेपर देने का विकल्प दिया जाए।
  • रिजल्ट घोषित करने की तारीख बताई जाए।
  • स्टेट बोर्ड में एग्जाम्स किस तरह होंगे, इस पर केंद्र स्थिति साफ करे।
  • सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार सुबह 10:30 बजे फिर सुनवाई करेगा।

सीबीएसई के फैसले के बाद आगे क्या? स्टूडेंट्स के पास क्या विकल्प हैं?

इंटरनल असेसमेंट 
सॉलिसिटर जनरल ने बताया कि 10वीं के बच्चों के जो पेपर बाकी रह गए थे, उन्हें कैंसल कर दिया गया है। उन्हें बाद में भी एग्जाम देने की जरूरत नहीं है। वहीं, नई स्कीम के तहत 12वीं के स्टूडेंट्स का इंटरनल असेसमेंट उनके पिछले 3 एग्जाम के आधार पर होगा और उनका रिजल्ट जारी कर दिया जाएगा।

बाद में एग्जाम्स
12वीं के स्टूडेंट्स बाद में एग्जाम देने का विकल्प भी चुन सकेंगे ताकि वे इंटरनल असेसमेंट से निकला अपना रिजल्ट और सुधार सकें। सॉलिसिटर जनरल ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि जैसे ही माहौल सुधरेगा, 12वीं के स्टूडेंट्स अपने बचे हुए पेपर दे सकेंगे। 

इन 3 एग्जाम्स के बारे में स्थिति साफ होना बाकी

  • जेईई मेन – 18 जुलाई से 23 जुलाई। इसी एग्जाम के बेस पर स्टूडेंट्स जेईई एडवांस्ड के लिए क्वालिफाई होते हैं। जेईई मेन के जरिए एनआईटी, सरकारी और प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन मिलता है। इसमें 9 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स शामिल होते हैं।
  • नीट – 26 जुलाई। इसके जरिए सरकारी और प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस और बीडीएस में एडमिशन मिलता है।
  • जेईई (एडवांस्ड) – 23 अगस्त। सिर्फ 2.5 लाख स्टूडेंट्स जेईई मेन के बाद एडवांस्ड के लिए क्वालिफाई कर पाते हैं। इसके जरिए 23 आईआईटी में एडमिशन मिलता है।

4 thoughts on “12वीं की परीक्षाओं को लेकर आज भी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, बोर्ड बताएगा कि स्टूडेंट्स के लिए क्या विकल्प होंगे”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top