सीबीएसई औऱ इंग्लिश मीडियम स्टूडेंट्स जा रहे हैं रेनेसां के फाइव इयर इंटीग्रेटेड आईपीएम की ओर

  • एमपी बोर्ड के स्टूडेंट्स का रुझान डीएवीवी के आईपीएम की ओर

दैनिक भास्कर

Jul 04, 2020, 02:08 PM IST

फाइव इयर इंटीग्रेटेड प्रोग्राम आईपीएम  के लिए स्टूडेंट्स के रुझान में एक स्पष्ट ट्रेंड नजर आ रहा है। सीबीएसई के स्टूडेंट्स जहाँ रेनेसां यूनिवर्सिटी के आईपीएम कोर्स की तरफ इंटरेस्टेड होकर इंक्वायरी कर रहे हैं वहीं एमपी बोर्ड के स्टूडेंट्स डीएवीवी के आईपीएम की ओर रुख कर रहे हैं। सीबीएसई और एलिट क्लास इंग्लिश मीडियम स्टूडेंट्स के इस रुझान के कई कारण हैं ;एक तो कोरोना महामारी के कारण मेरिटोरियस स्टूडेंट्स विदेशों में या महानगरों में हायर क्लास स्टडी के लिए नहीं जा पा रहे हैं, अतः उन्हें रेनेसां यूनिवर्सिटी के फाइव इयर इंटीग्रेटेड कोर्स में अपना भविष्य नजर आ रहा है, क्योंकि रेनेसां यूनिवर्सिटी ने हाल ही में विश्व की कई टॉप क्लास यूनिवर्सिटीज से टाइअप किया है, इनमें प्रमुख रूप से यूके का हार्वर्ड बिजनेस स्कूल, यूएसए की जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ वर्जिनिया, रशिया की साउथ यूरल स्टेट यूनिवर्सिटी, येल यूनिवर्सिटी, स्पेन की द जेन यूनिवर्सिटी, इटली की सेन्यो यूनिवर्सिटी, जॉर्डन की फिलाडेल्फिया यूनिवर्सिटी सहित करीब 19 यूनिवर्सिटी शामिल है।

रेनेसां यूनिवर्सिटी के फाइव इयर प्रोग्राम स्टूडेंट्स इन यूनिवर्सिटीज के ऑनलाइन कोर्सेस को फ्री ऑफ कॉस्ट करने का ऑप्शन मुहैया करवाती है। इसके अतिरिक्त वर्ल्ड क्लास फैकल्टी स्टूडेंट्स को ऑनलाइन टीचिंग और ट्रेनिंग भी प्रदान करती है। कैंपस में स्टूडेंट्स की कम्यूनिकेशन स्किल को डेवलप करने के लिए स्पेशल क्लास और प्रोग्राम आयोजित किए जाते हैं।

रिज़नेबल फी स्ट्रक्चर,एक्टिविटी बेस्ड टीचिंग, साफ-सुथरा कैंपस, फैकल्टी का मित्रवत व्यवहार, रेग्यूलर क्लासेस और वर्ल्ड क्लास कंपनियों का कैंपस में प्लेसमेंट के लिए आना और स्टूडेंट्स का दुबई-हांगकांग जैसी जगहों पर प्लेस होना यह कुछ प्रमुख कारण है जो रेनेसां यूनिवर्सिटी के फाइव इयर आईपीएम प्रोग्राम को खास बनाते हैं।

उल्लेखनीय है कि इसी वर्ष रेनेसां के  स्टूडेंट्स ने सर्वाधिक इंटरनेशनल प्लेसमेंट का रिकॉर्ड बनाया है, जो रेनेसां यूनिवर्सिटी के बेस्ट टीचिंग मैथड, इंटेसिव क्लासरूम स्टडी और ट्रेनिंग का रिजल्ट है। 

इसके अतिरिक्त एक बड़ा कारण रेनेसां के चांसलर  ख्यात शिक्षाविद स्वप्निल कोठारी स्वयं भी हैं जिनके सतत गाइडेंस ,मोटिवेशनल स्पीच और प्रोग्रेसिव सोच के कारण न्यू जेनरेशन के पेरेंट्स और स्टूडेंट्स रेनेसां यूनिवर्सिटी में अपना फ्यूचर देखते हैं।

जबकि अन्य स्थानों पर स्टूडेंट्स को यह सब एक जगह हांसिल नहीं है।

डीएवीवी के आईपीएम के प्रति एमपी बोर्ड के स्टूडेंट्स के झुकाव का एक बड़ा कारण अफोर्डबल फीस का होना है,और मध्यमवर्गीय पेरेंट्स और स्टूडेंट्स ट्रेडिशनल यूनिवर्सिटी के प्रति भी एक विश्वास रखते हैं।हालांकि इंडस्ट्री की मांग के अनुरूप सिलेबस डिज़ाइन न किया जाना डीएवीवी की एक बड़ी कमी है ।इसी कारण से करियर ओरिएंटेड स्टूडेंट्स यहाँ के आईपीएम कोरस से दूरी बनाते हैं।

जानकारों का कहना है कि सारी फैसिलिटीज का एक जगह और रिज़नेबल फीस में मिल जाना सीबीएसई स्टूडेंट्स को रेनेसां यूनिवर्सिटी की ओर अट्रेक्ट होने का बड़ा कारण है।

5 thoughts on “सीबीएसई औऱ इंग्लिश मीडियम स्टूडेंट्स जा रहे हैं रेनेसां के फाइव इयर इंटीग्रेटेड आईपीएम की ओर”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top