विश्वस्तरीय शिक्षा के पर्याय सेज विश्वविद्दालय के छात्रों को मिल रही करियर में अभूतपूर्व सफलता


दैनिक भास्कर

Jun 27, 2020, 06:22 PM IST

भारत विश्व की तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्थाओं में से एक है, जहां पर प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं । आज यहां पर इडस्ट्रीज व व्यापार तेजी से बढ़ रहे हैं, जिससे कई क्षेत्रों में आर्थिक सुधार देखने को मिल रहा है । लेकिन एक तरफ जहां देश के युवा आगे बढ़ने के सपने देख रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ एकेडेमिक में दी जा रही शिक्षा और इंडस्ट्री की आवश्यकताओं के बीच भारी अंतर के कारण उन्हें समस्याओं का सामना भी करना पड़ रहा है । सही मार्गदर्शन व सही दिशा में उठाया गया एक कदम युवाओं के जीवन में कई परिवर्तन ला सकता है । इसी को ध्यान में रखकर सेज विश्वविद्यालय ने अपना एकेडिमक मॉडल बनाया है जो कि इंडस्ट्री की आवश्यकताओं व एकेडेमिक शिक्षा के बीच के अंतर को कम करता है ।

आज के समय की इंडस्ट्री की आवश्यकताओं से मिलने के लिए विश्वविद्यालय न सिर्फ छात्रों की सहायता कर रही है बल्कि उनके भविष्य को बेहतर बनाने के लिए आवश्यक परिवर्तनों हेतु प्रोत्साहित भी कर रही है । उच्च शिक्षा के जरिए लोकल, राष्ट्रीय व वैश्विक मुद्दों के लिए सेज युनिवर्सिटी ने रिसर्च आधारित एनवायरमेंट निर्मित किया है जिसका उद्देश्य युवाओं को बेहतर भविष्य के लिए उनकी जिम्मेदारियों से अवगत कराना है । 

सेज विश्वविद्यालय (भोपाल व इंदौर) – छात्रों के सपने पूरे करता उत्कृष्ठ शैक्षणिक संस्थान

सेज विश्वविद्यालय भोपाल व इंदौर अनेक कोर्सेस में से छात्रों को अपनी रुचि के अनुसार कोर्स चुनने का मौका देती है जैसे कि एडवांस्ड कंप्यूटिंग, एग्रीकल्चर, आर्ट्स ऐंड ह्यूमैनिटीज, आर्किटेक्चर, कॉमर्स, डिजाइन, जर्नलिज्म ऐंड मास कम्यूनिकेशन, लॉ ऐंड लीगल स्टडीज, मैनेजमेंट स्टडीज, फार्मास्युटिकल साइंस, बायोलॉजिकल साइंस, कंप्यूटर ऐप्लीकेशन्स, इंजीनियरिंग ऐंज टेक्नोलॉजी आदि । इन कोर्सेस में छात्रों को न सिर्फ एकेडमिक ज्ञान ही दिया जाता है बल्कि उन्हें इंडस्ट्री के लिए आवश्यक प्रैक्टिकल भी कराए जाते हैं ।

सेज विश्वविद्यालय कैसे कर रही है शिक्षा में सभी का मार्गदर्शन

सेज ग्रुप (सेज विश्वविद्यालय), भारत में उच्च गुणवत्ता की शिक्षा हर युवा तक पहुंचा  रही है। इसके लिए यहां पर मध्य प्रदेश के पहले कमर्शियल प्लांट टिसू कल्चर लैब की स्थापना की गई। यह मध्य भारत का पहला ड्रग डिजाइनिंग लैब है व सेज विश्वविद्यालय, एप्पल टेक्नॉलजी युक्त मध्य प्रदेश का पहला विश्वविद्यालय है। अत्यधिक कम समय में इसे मध्य भारत की टॉप प्राइवेट युनिवर्सिटी, मोस्ट इनोवेटिव युनिवर्सिटी व लीडिंग प्राइवेट युनिवर्सिटी का अवार्ड भी प्राप्त हुआ।

डाइनामिक लर्निंग एनवायरमेंट

क्लासरूम, लैब और अत्याधुनिक उपकरण व शैक्षणिक इंफ्रास्ट्रक्चर, लर्निंग एनवायरमेंट के लिए अत्यंत आवश्यक हैं । डाइनामिक इंफ्रास्ट्रक्चर और उच्च गुणवत्ता की सुविधाओं से छात्रों में सुधार के कई प्रमाण हैं । सेज विश्वविद्यालय इंफ्रास्ट्रक्चर के आधार पर देश की अग्रणी युनिवर्सिटी में से एक है । 

यहां पर आधुनिक सुविधा से लैस स्मार्ट क्लासरूम, इंजीनियरिंग लैब, कैफेटेरिया, डिजाइन ऐंड ड्रॉइंग स्टूडियो उपलब्ध हैं । इसके अलावा हर इंस्टीट्यूशन के पास निजी ऑडिटोरियम है जिसमें उनकी को-करिकुलर ऐक्टीविटी जैसे वैल्यू ऐडेड कोर्स, कॉन्फ्रेंस, वर्कशॉप, एफडीपी आदि सुचारु रूप से चलते रहते हैं । 

सेज विश्वविद्यालय भोपाल व इंदौर के कैम्पस में एक विशाल खेल का मैदान भी है जहां पर लगभग सारी स्पोर्ट्स फैसिलिटी उपलब्ध हैं । ‘स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ दिमाग का वास होता है’ इस कहावत को ध्यान मे रखते हुए सेज विश्वविद्यालय छात्रों की पढ़ाई व खेल कूद का एक संतुलन बनाए रखने को कटिबद्ध है । छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु स्पोर्ट्स ऐक्टिविटी बेहद आवश्यक है । 

पैशन से प्रोफेशन तक

किसी भी इंडस्ट्री के लिए छात्रों को तैयार करने हेतु पढ़ाई के समय ही उन्हें इंडस्ट्री की आवश्यकताओं से अवगत कराना बेहद आवश्यक है । जिसके लिए सेज विश्वविद्यालय ने कई बड़ी इंडस्ट्री से समझौते स्थापित कर रखे हैं । छात्रों को आज के समय की मांग को समझने में सहायता करते हुए इंडस्ट्री की मुश्किलों को समाप्त करना सेज का प्रमुख उद्देश्य है । 

दिसम्बर 2019 तक 300 से ज्यादा छात्रों का कई मल्टीनेशनल कंपनियों जैसे टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस, आईबीएम, बाईजूस, सीईएटी, टेक महिन्द्रा व टास्क यूएस आदि में प्लेसमेंट हो चुका है। 2019 में छात्रों का औसत प्लेसमेंट पैकेज 3.60 लाख प्रतिवर्ष और अधिकतम 12.50 लाख प्रतिवर्ष था। दिसम्बर 2019 में 70 से ज्यादा कंपनियों सेज युनिवर्सिटी में प्लेसमेंट के लिए आई थीं।

ग्लोबल प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराना

सेज विश्वविद्यालय, इंदौर छात्रों को देश की अग्रणी एमएनसी जैसे टीसीएस, आईबीएम, ट्यूडिप, सिस्टेमैट्रिक्स, स्मार्ट डेटा, एपाल्टो इलेक्ट्रॉनिक्स, इन्फोसेप्टस, केडी सर्विसेज, बाईजूस, लिडो लर्निंग के साथ साथ गूगल, ऐप्पल, टाटा मोटर्स और एचसीएल जैसी बड़ी कम्पनियों का हिस्सा बनने का मौका प्रदान करती है । अभी तक विश्वविद्दालय में 100 से भी अधिक राष्ट्रीय स्तर की कंपनियों ने विजिट किया है और सेज विश्वविद्यालय की शिक्षा पद्धति से प्रभावित हुए हैं । कई कंपनियों ने तो यहां की शिक्षा पद्धति की मीडिया के सामने तारीफ भी  की है ।

इसके अलावा विश्वविद्यालय ने 50 से अधिक प्रसिद्ध शैक्षणिक व गैरशैक्षणिक संस्थानों के साथ MOU साइन किए हैं, जिसका उद्देश्य यहां के छात्रों को स्किल आधारित शिक्षा प्रदान करना व रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है । साथ ही विश्वविद्यालय से कई जानी मानी हस्तियां भी जुड़ी हुई हैं । अपने क्षेत्र में सफल ये हस्तियां हमारे छात्रों का मार्गदर्शन करते रहते हैं व छात्र उनके अनुभव से सफलता के गुर सीखते रहते हैं ।

सेज सोशल सपोर्ट कार्यक्रम

लॉकडाउन की अवधि में विश्वविद्यालय ने सेज सोशल सपोर्ट कार्यक्रम प्रारम्भ किया है, जिसके अंतर्गत विश्वविद्यालय में प्रवेश हेतु ली जा रही प्रवेश परीक्षा पास करने वाले सभी मध्य प्रदेश अधिवासियो को 25% तक की विशेष छूट दी जाएगी एवं मेरिट के आधार पर स्कॉलरशिप जिसकी जानकारी  www.sageuniversity.edu.in पर उपलब्ध है । सेज सोशल सपोर्ट ऑफर दिनांक 30 जून 2020 तक वैध है।

सेज ग्रुप की विरासत

साल 2003 में सेज ग्रुप के पहले शैक्षिक संस्थान एसआईआरटी (सागर इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च ऐंड टेक्नोलॉजी) की स्थापना हुई । सेज ग्रुप के संस्थापक श्री संजीव अग्रवाल ने एक इंजीनियरिंग कॉलेज खोलकर युवाओं को स्वयं को सिद्ध करने के लिए एक नया प्लेटफॉर्म किया । एसआईआरटी में आज 150 से ज्यादा कोर्सेज पढ़ाए जाते हैं व 20000 से ज्यादा छात्र वहां पढ़ते हैं । इसके बाद सेज ग्रुप ने और भी कई कॉलेज और स्कूलों की नींव डाली जैसे कि एसआईआरटी-एस (सागर इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च टेक्नोलॉजी ऐंड साइंस), एसआईआरटी-ई (सागर इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च टेक्नोलॉजी – एक्सीलेंस), एसआईआरटी फार्मेसी और एसआईआरटीएस फार्मेसी आदि । सेज ग्रुप ने साल 2017 में सेज इंटरनेशनल स्कूल की भी स्थापना की ।

श्री संजीव अग्रवाल ने साल 2017 में इंदौर में सेज विश्वविद्यालय की स्थापना की और साल 2020 में सेज विश्वविद्यालय भोपाल की स्थापना की, जिसका उद्देश्य स्किल गैप को कम करना और ऐसे कुशल व योग्य युवाओं को तैयार करना है जो कि देश की अर्थव्यवस्था में अपना योगदान दे सकें । आज सेज विश्वविद्यालय देश के अग्रणी निजी विश्वविद्यालयों में से एक है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top