रेनेसां यूनिवर्सिटी एंवम हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल के बीच मध्यभारत के शिक्षण क्षेत्र में सबसे बड़ा एजुकेशनल अनुबंध

दैनिक भास्कर

May 14, 2020, 05:44 PM IST

अपनी इनोवेटिव सोच और प्रेक्टिकल एजुकेशन के लिए विख्यात रेनेसां यूनिवर्सिटी एवंम गुणवत्तापूर्ण वैश्विक शिक्षा के लिए प्रसिद्ध हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल के बीच एक शैक्षिक अनुबंध हुआ है। मध्यभारत के शैक्षिक जगत में इसे एक ऐतिहासिक अनुबंध समझा जा सकता है। इसके अंतर्गत विद्यार्थियों को फाइव ईयर इंटीग्रेटेड कोर्स आईपीएम एवंम थ्री ईयर बीए (साइकोलॉजी) और बीए (अप्लाइड इकनोमिक्स) में एडमिशन लेने पर हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल के पंद्रह महत्वपूर्ण कोर्सेस में से किसी एक को निःशुल्क करने की सुविधा स्टूडेंट्स को मिलेगी।इस तरह उन्हें डिग्री के साथ साथ हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल का एक एक मनपसंद ऑनलाइन सर्टिफ़िकेट कोर्स निःशुल्क करने का अवसर मिलेगा।

इस संबंध में प्रसिद्ध करियर काउंसलर श्री अतुल जैन से बात करने पर उन्होंने इसे स्टूडेंट्स के लिए अत्यंत फ़ायदेमंद बताया। श्री अतुल जैन ने इस बारे में विश्लेषण करते हुए कहा कि जहाँ एक ओर इन पाठ्यक्रमों को हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल से सीधे करने पर अत्यंत महँगा पड़ेगा और प्रति विद्यार्थी करीब 2250 डॉलर यानी 1.75 लाख रुपए का खर्च आएगा वहीं रेनेसां यूनिवर्सिटी में यह निःशुल्क होगा।  इसके लिए कोई भी अतिरिक्त फीस स्टूडेंट्स को नहीं देना होगी। इस प्रकार विद्यार्थियों को दोहरा फायदा होगा।
जिन पंद्रह महत्वपूर्ण सामयिक और रोजगार मूलक सर्टिफ़िकेट कोर्सेस के लिए रेनेसां यूनिवर्सिटी ने हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल के साथ टाई-अप किया है, ये हैं – क्रिडेंशियल ऑफ रीडीनेस (कोर), अल्टरनेटिव इंवेस्टमेंट, बिज़नेस इंवेस्टमेंट्स, बिज़नेस एनालेटिक्स, करेजियस लीडरशिप, डिसरप्टिव स्ट्रेटजी, इकनॉमिक्स फॉर मैनेजर्स, एंटरप्रेन्योरशिप इसेंशियल्स, फ़ाइनेंशियल अकाउंटिंग, ग्लोबल बिज़नेस, लीडरशिप प्रिंसिपल्स, लीडिंग विथ फाइनेंस, मैनेजमेंट इसेंशियल्स, निगेसिएशन मास्टेरी, स्केलिंग वेंचर्स, एवंम सस्टेनेबल बिज़नेस स्ट्रेटजी। 

उल्लेखनीय है कि रेनेसां विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री स्वपनिल कोठारी हैं जो स्वंय सीए होने के साथ-साथ सुप्रसिद्ध शिक्षाविद्, प्रखर वक्ता, चिंतक और श्रेष्ठ शिक्षक हैं। इन तीनों कोर्सेज में सीटें सीमित हैं और देश भर से इसके लिए स्टूडेंट्स की एप्लिकेशन आना आरम्भ हो गई हैं।

 
नए शैक्षणिक सत्र 2020-21 से इन कोर्सेस में एडमिशन लिया जा सकेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top