रिसर्च व इनोवशन आधारित शिक्षा में नए आयाम स्थापित करता सीजीसी लांडरा


दैनिक भास्कर

May 20, 2020, 01:01 PM IST

अगर विचारों का आदान प्रदान एक रचनात्मक अंदाज में किया जाए तो बढ़िया अवसर के रूप में उसका फायदा बड़े पैमाने पर देखने को मिलता है। इसी का सबसे जीवंत प्रमाण प्रस्तुत करता है चंडीगढ़ ग्रुप ऑफ कॉलेजस (CGC),लांडराजो कई वर्षों से छात्रों के सुनहरे भविष्य की नींव रखता आ रहा है। सीजीसी बीते 19 साल से अपने समर्पित विभागों के माध्यम से रिसर्च व इनोवेशन में नित नए विचारों व रचनात्मक खोजों के माध्यम से छात्र-छात्राओं व शोधकर्ताओं को अद्वितीय अवसर प्रदान कर रहा है । यहां की शिक्षण पद्धति का अंदाज अन्य संस्थानों की तुलना में अलग है और ये काफी लोकप्रिय भी हो रहा है।

सीजीसी लांडरा के रिसर्च व अनुसंधान के बढ़िया माहौल को देखते हुए इसे अब तक 10 करोड़ रुपये तक की ग्रांट प्रदान की गयी है जिससे ये संस्थान रिसर्च व डेवलपमेंट में और उन्नति कर सके।  ये ग्रांट सरकारी व प्राइवेट संस्थानों द्वारा दी गयी है जिसमें नीति आयोग, डिपार्टमेन्ट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, भारत सरकार तथा एआईसीटीई (AICTE) शामिल हैं।

सीजीसी लांडरा का जोर हमेशा से नए अनुसंधान, अंतःविषय और बहु-विषयक अनुसंधान की साझेदारी, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों / विश्वविद्यालयों के साथ अनुसंधान सहयोग, सरकार द्वारा वित्त पोषित / निजी वित्त पोषित परियोजनाओं, प्रकाशनों को खास दिशा निर्देशों के द्वारा रिसर्च गति‌विधियों को सरल व सुविधानजनक बनाने पर रहा है। सीजीसी इसके अलावा कई उन बातों पर अपना ध्यान केंद्रित करता है जो भविष्य में रिसर्च में सहायक साबित हो सकती हैं।

सीजीसी लांडराकैंपस में अटल इनोवेशन मिशन (AIM) के तहत एक नई पहल अटल कम्युनिटी इनोवेशन सेंटर (ACIC) की स्थापना की जा रही है, जिसे NITI Aayog की मंजूरी भी मिल गई है। इसके जरिए युवाओं को उन अनछुए पहलुओं को उजागर करने का मौका मिलेगा जो अपनी रचनात्मकता से कुछ नया करने की ठान चुके हैं। राष्ट्र के सुनहरे भविष्य के निर्माण में ये यात्रा एक मील का पत्थर साबित होगी।

प्लेसमेंट में अव्वल रहा है सीजीसी 

प्लेसमेंट के मामले में भी सीजीसी लांडरा शुरू से ही अव्वल रहा है अगर बात इसी साल यानी कि 2020 की करें तो यहां के छात्रों को 691 से ज्यादा बड़ी कम्पनीज के द्वारा लगभग 6617 प्लेसमेंट्स ऑफर किये जा चुके हैं जिसमें से छात्रों को 35 लाख तक का सालाना पैकेज भी मिला है। सीजीसी, लांडरा के लिए ये किसी बड़ी उपलब्धि से कम नहीं है। सीजीसी पूरी तरह से अपनी टैगलाइन बिल्डिंग करियर, ट्रांसफार्मिंग लाइव्स को सार्थक कर रहा है। आधुनिक दौर कि इस प्रतिस्पर्धा में बहुत से छात्र अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। ऐसे में सीजीसी लांडरा अपनी शिक्षण प्रणाली से सभी छात्रों की  समस्या को दूर कर सकता है. अगर आप भी पढ़ाई के साथ – साथ रचनात्मक कार्यों में आगे बढ़ कर अपना भविष्य उज्जवल करना चाहते हैं तो  सीजीसी लांडरा आपके लिए एक बेहतर विकल्प है. ज्यादा जानकारी के लिए क्लिक करें  https://www.cgc.edu.in/  

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top