मिडिल ईस्ट के देशों में रह रहे पैरेंट्स ने नीट स्थगित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका, 26 जुलाई को होनी है परीक्षा

  • दायर याचिका में पैरेंट्स ने मौजूदा हालात को देखते हुए उन्हीं के देशों में परीक्षा केंद्र बनाने की भी मांग की
  • CBSE 10वीं-12वीं की परीक्षा के रद्द होने के बाद से ही जेईई, नीट स्टूडेंट्स इसे भी स्थगित करने की कर रहे मांग

दैनिक भास्कर

Jul 02, 2020, 11:39 AM IST

कोरोना के बीच 26 जुलाई को आयोजित होने वाले नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) को स्थगित करने के लिए मिडिल ईस्ट के देशों में रह रहे स्टूडेंट्स के पैरेंट्स ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। दायर याचिका में पैरेंट्स ने मध्य पूर्व के देशों में ही नीट परीक्षा केंद्र बनाने या फिर इस परीक्षा को स्थगित करने की मांग की है।  

मिडिल ईस्ट के पैरेंट्स ने की अपील

इस याचिका को कतर के केरल मुस्लिम संस्कृति केंद्र के सचिव ने दोहा और कतर में NEET स्टूडेंट्स के पैरेंट्स की तरफ से दायर की है। दायर याचिका में अभिभावकों ने सरकार से यह भी मांग की है कि इस परीक्षा का आयोजन उन्हीं ही के देशों में आयोजित कराया जाए या फिर स्थगित कर दिया जाए। उन्होंने यह भी बताया कि परीक्षा में शामिल होने के लिए स्टूडेंट्स ने वंदे भारत मिशन की उड़ानों में सीटें हासिल करने की कोशिश की है, लेकिन उन्हें सीट नहीं मिली। 

15 लाख से ज्यादा छात्रों ने किया आवेदन

इस साल नीट के लिए 15 लाख से ज्यादा छात्रों ने आवेदन किया है। मेटिडल कोर्ससे में एडमिशन के लिए होने वाले नीट यूजी का आयोजन इस बार कोरोना की वजह से 26 जुलाई को किया जाएगा। वहीं, इससे पहले CBSE की 10वीं-12वीं की बची परीक्षा के रद्द होने के बाद से ही जेईई और नीट स्टूडेंट्स भी इसे स्थगित करने की मांग कर रहे।

7 thoughts on “मिडिल ईस्ट के देशों में रह रहे पैरेंट्स ने नीट स्थगित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका, 26 जुलाई को होनी है परीक्षा”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top