नीट- यूजी परीक्षा रद्द होने का दावा झूठा, परीक्षा कराने वाली एजेंसी ने ही वायरल हो रहे आदेश को फर्जी बताया


दैनिक भास्कर

Jun 17, 2020, 03:04 PM IST

क्या वायरल : सोशल मीडिया पर एक आदेश के आधार पर दावा किया जा रहा है कि जुलाई में होने जा रही नीट-यूजी परीक्षा को अगस्त तक के लिए रद्द कर दिया गया है। यहां बता दें कि पहले यह परीक्षा मई में होनी थी। लेकिन, लॉकडाउन के चलते इसे जुलाई तक के लिए पोस्टपोन किया गया था। हालांकि अभी भी बड़ी तादात में स्टूडेंट्स नीट-यूजी की तारीख आगे बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। इस बीच यह दावा किया जाने लगा है कि परीक्षा को अगस्त तक के लिए पोस्टपोन कर दिया गया है। वायरल आदेश में नीट-यूजी परीक्षा आयोजित कराने वाली एजेंसी एनटीए (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) का नाम भी लिखा है। यही वजह है कि बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स इसे सच मानकर शेयर भी कर रहे हैं। 

वॉट्सएप्प पर वायरल हो रहे आदेश का एक हिस्सा 

यूट्यूब चैनलों ने भी नीट परीक्षा रद्द होने से जुड़े वीडियो बनाए हैं 

फैक्ट चेक पड़ताल 

  • वायरल हो रहे आदेश को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से 27 मार्च 2020 का ऐसा ही एक आदेश हमें मिला। इसमें नीट परीक्षा को मई की बजाए जुलाई में कराने की बात कही गई है। एनटीए (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) की वेबसाइट से क्रॉस चेक करने पर पता चला कि यह आदेश असली है। वर्तमान में वायरल हो रहा आदेश भी हूबहू ऐसा ही है बस उसमें तारीखें अलग हैं। संभवत 27 मार्च 2020 वाले इसी आदेश को एडिट करके स्टूडेंट्स को भ्रमित करने के लिए वायरल किया जा रहा है। 
    27-3-2020 का आदेश
  • एनटीए की वेबसाइट चेक करने पर हमें पता चला कि पहले ही वायरल हो रहे आदेश का खंडन किया जा चुका है। इस संबंध में एनटीए ने एक पब्लिक नोटिस भी जारी किया है। 
  • पीआईबी फैक्ट चेक ने भी जुलाई में होने जा रही नीट परीक्षा के पोस्टपोन होने वाली बात को अफवाह बताया है 

निष्कर्ष : फिलहाल एनटीए या एमएचआरडी की तरफ से नीट परीक्षा पोस्टपोन कराए जाने से जुड़ा कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा फर्जी है। 

5 thoughts on “नीट- यूजी परीक्षा रद्द होने का दावा झूठा, परीक्षा कराने वाली एजेंसी ने ही वायरल हो रहे आदेश को फर्जी बताया”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top