नए सत्र के लिए रेनेसां यूनिवर्सिटी की अभिनव रणनीति

दैनिक भास्कर

May 27, 2020, 05:52 PM IST

रेनेसां यूनिवर्सिटी ने अगले सत्र से अपने स्टूडेंट्स के लिए कुछ नया औऱ अद्भुत करने का प्लान किया है। अपने इनोवेटिव सोच, प्रैक्टिकल लर्निंग और स्टूडेंट बेस्ड एक्टिविटी जैसे-डांस, एक्टिंग, पेंटिंग के लिए विख्यात रेनेसां यूनिवर्सिटी ने अपने उभरते हुए छात्रों के लिए कई फॉरेन यूनिवर्सिटीज से टाईअप किए हैं। उनमें से प्रमुख रूप से यूके का हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल, रशिया की साउथ यूरल स्टेट यूनिवर्सिटी,येल यूनिवर्सिटी, ऑस्ट्रेलिया का नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, स्पेन की द जेन यूनिवर्सिटी, इटली की सेन्यो यूनिवर्सिटी, जॉर्डन की फिलाडेल्फिया यूनिवर्सिटी सहित करीब 19 यूनिवसिर्टीज  शामिल हैं।

नए सत्र से रेनेसां यूनिवर्सिटी में इन फॉरेन यूनिवर्सिटीज से संबंधित कोर्सेस को करने का अवसर भी स्टूडेंट्स को मिलेगा औऱ इसके लिए अलग से कोई फीस स्टूडेंट्स को नहीं देनी होगी। इन ऑनलाइन कोर्सेस की फीस रेनेसां यूनिवर्सिटी द्वारा भरी जाएगी .अर्थात रेनेसां यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स को निशुल्क इन ऑनलाइन कोर्सेस को करने का मौका मिलेगा।

रेनेसां यूनिवर्सिटी के चांसलर, विख्यात शिक्षाविद् स्वप्निल कोठारी ने एक चर्चा में बताया कि स्टूडेंट फॉरेन कम्पनीज में ऑनलाइन इंटर्नशिप भी कर सकेंगे। और इसका फायदा स्टूडेंट्स को इस तरह होगा कि अपनी लिंक्डइन जैसे अन्य प्रोफेशनल सोशल साइट्स पर प्रोफाइल बनाते समय स्टूडेंट्स इन ऑनलाइन सर्टिफिकेशन औऱ इंटर्नशिप का रेफरेंस दे सकेंगे, जिससे उनका प्रोफाइल स्ट्रांग, इम्प्रेसिव औऱ इफेक्टिव बनेगा।वर्तमान में रेनेसां यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स  यूएसए के बोस्टन कंसल्टेंसी ग्रुप, नीदरलैंड्स का केपीएमजी ग्रुप और यूएसए के सिटी बैंक ग्रुप में इंटर्नशिप कर रहे हैं और आगामी सत्र के लिए भी इंटरनेशनल कंपनीज़ के साथ टाईअप किया जा रहा है।। इन अंतरराष्ट्रीय स्तर के इंस्टीट्यूशंस के साथ इंटर्नशिप करते हुए स्टूडेंट्स अपने लर्निंग एक्सपीरियंस को इंटरनेशनल लेवल तक ले जाने का अपना सपना पूरा कर सकेंगे।

इन दिनों भी वर्तमान सत्र के स्टूडेंट्स को फॉरेन एक्सपर्ट्स फैकल्टी के साथ-साथ ख्यात आईआईटीयन्स और आईआईएम फैकल्टी के ऑनलाइन टीचिंग का फायदा मिल रहा है। इनमें प्रमुख रूप से यूके से रोडनी क्लार्कन, यूएई से फैजल खान, आईआईएम फैकल्टी डॉ. राम्या रंगनाथन, प्रोफेसर शुभा विलास और जर्मनी से डॉ. एवलिन लिंडनर जैसे टॉप फैकल्टीज के नाम सम्मिलित हैं। प्रोफेसर रोडनी क्लार्कन ने बताया कि रेनेसां विद्यार्थियों के साथ टीचिंग एक्सपीरियंस मार्वलस रहा। स्टूडेंट्स होमवर्क के साथ आते हैं और इंट्रेस्टिंग क्वेश्चंस करते हैं। प्रोफसर फैजल खान ने बताया कि रेनेसां यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स का इंटेलेक्ट लेवल बेहतरीन हैं और सीखने का उनका जज्बा कमाल का है। फॉरेन यूनिवर्सिटीज की फैकल्टी से पढ़ते समय एक कॉमन प्रॉब्लम फॉरेन एक्सेंट को समझने की होती है औऱ इसके लिए रेनेसां यूनिवर्सिटी के करीब 50 फैकल्टी और ट्रेनर्स इन दिनों इंटरनेशनल ट्रेनिंग ले रहे हैं। इसके बाद वे स्टूडेंट्स के लिए फॉरेन एक्सेंट की प्रॉब्लम को दूर करने के लिए और सब्जेक्ट को सिम्प्लीफाय करते हुए क्लासेस लेंगे।  इस तरह रेनेसां यूनिवर्सिटी में पढ़ते हुए स्टूडेंट्स इंटरनेशनल फैकल्टी के साथ वीडियो लेक्चर और ऑनलाइन टीचिंग के वक्त सहजता से कम्युनिकेट कर सकेंगे। नए सत्र से वर्तमान स्टूडेंट्स के साथ-साथ फ्रेशर्स को भी इस इंटरनेशनल टाईअप्स, फॉरेन यूनिवर्सिटी के कोर्सेस, इन कोर्सेस की फ्री ऑफ कॉस्ट सर्टिफिकेशन,टॉप क्लास इंटरनेशनल लेवल की फैकल्टी से टीचिंग और इंटरनेशनल इंटर्नशिप का लाभ मिल सकेगा।

इस  अभिनव पहल का पेरेंट्स स्टूडेंट्स ने स्वागत किया है और इसे मध्यभारत के लिए ऐतिहासिक बताया है क्योंकि इससे जहां एक ओर स्थानीय स्टूडेंट्स को इंटरनेशनल लेवल का एक्सपोज़र इंदौर में पढ़ते ही प्राप्त होगा वहीं कोरोना-महामारी के चलते बाहर पढ़ने न जा सकने वाले स्टूडेंट्स को उसी इंटरनेशनल लेवल की टीचिंग,लर्निंग और गाइडेंस रेनेसां यूनिवर्सिटी में लाभ हो सकेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top