घर से काम करते समय भी रखें अनुशासन ताकि कार्यकौशल और गंभीरता पर ना उठें सवाल

दैनिक भास्कर

Mar 24, 2020, 10:05 AM IST

एजुकेशन डेस्क. कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते कई कंपनियां और संस्थाएं अपने कर्मचारियों को कह रही है कि वे घर से ही अपना काम करके भेजें या करें। वर्क फ्रॉम होम इस समय की एक बड़ी जरूरत है। यह काम बहुत सरल लग सकता है, लेकिन इसके लिए यह बहुत जरूरी है कि इसे करते हुए बहुत डिसिप्लीन अपनाया जाए। इसके करते हुए उनती ही गंभीरता रखना होगी जितनी कर्मचारी ऑफिस में काम करते हुए रखता है। वर्क फ्रॉम होम के तहत दिया गया काम मजाक नहीं। इसके अंजाम देने के लिए सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हमें यह करते हुए घर के काम और ऑफिस के काम को गड्ड मड्ड नहीं करना चाहिए। 

घर और ऑफिस के कामों को रखें अलग
घर से काम करते हुए एक अच्छी गति में काम करने की जरूरत है। और यह करते हुए ध्यान रखना होगा कि घर का काम पूरा करने का एक निश्चित और निर्धारित समय हो तथा ऑफिस का काम करने का भी निर्धारित और निश्चित समय होना चाहिए। इससे दोनों की कामों को अलग- अलग रखकर बेहतर काम किया जा सकता है। यदि हमने घर के कामों और ऑफिस के कामों को मिला दिया तो यह कोई अच्छा विचार नहीं है। यदि यह मिला दिया गया तो इससे दक्षता और कार्यक्षमता पर प्रतिकूल असर पड़ता है।

एकाग्रता का रखें ध्यान
घर से काम करते हुए इस बात को नहीं भुलाया जाना चाहिए कि जिस जगह से आप काम करने जा रहे हैं, उसमें कम से कम शोर हो। इससे आपकी एकाग्रता भंग हो सकती है और काम भी प्रभावित हो सकता है। जब आप घर से काम कर रहे हों , उस समय भी फॉर्मल ड्रेस में ही यह काम करें। यह माइंड सेट को प्रभावित करता है क्योंकि इसके मनोवैज्ञानिक साक्ष्य हैं कि यह कैसे प्रभावित करता है।

कई सॉफ्टवेयर भी उपलब्ध
घर पर आपका कार्य बाहरी शोर से मुक्त होना चाहिए और आरामदायक फर्नीचर होना चाहिए। इससे आप ज्यादा सुविधाजनक ढंग से बेहतर काम कर पाएंगे। इसके लिए आपको घर में एक सही स्थान का चुनाव करना होगा। साथ ही ऐसी कुर्सी होना चाहिए जो आपकी बैक को आरामदायक ढंग से सपोर्ट कर सके और टेबल पर आप आईलेवल को सही तरीके निर्धारित कर काम को अंजाम दे सकें। वर्क फ्रॉम होम के लिए कई सॉफ्टवेयर भी उपलब्ध हैं, लेकिन कुछ फ्री हैं जैसे- वॉट्सएप वीडियो कॉल, गूगल डुओ और स्काइप। इसका उपयोग स्मॉल ऑफिसेस के काम के लिए बेहतर ढंग से किया जा सकता है।

10 एक्टिविटीज करेंगी बोरियत दूर

  • ग्रैंड पैरेंट्स की रखी हुई पुरानी पुस्तकें पढ़ें और उसको बारे में जाने
  • अपने पुराने फोटोग्राफ्स देखिए।
  • एक्ट कीजिए और इंटरेस्टिंग वीडियोज बनाइए।
  • घर को दोबारा डेकोरेटिव बनाएं।
  • फैमिली मेंबर्स मिलकर सबकी फेवरेट डिश बनाए।
  • क्राफ्ट/ क्रिएटिव वर्क एंड डिजाइन।
  • परिवार के सभी सदस्य एक बैठकर अपनी पसंदीदा फिल्म देख सकते हैं।
  • कैंपेन गेम डम शिराज, सांपसीढ़ी, लूडो, अंताक्षरी, नेम प्लेस एनिमल थिंग्स गेम।
  • अपने शेफ्स से कैरम बोर्ड, कार्ड्स, चेस निकालकर गेम्स खेल सकते हैं।
  • घर के बुजर्गों से उनके जीवन के कहानी सुनिए और उससे सीख लीजिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top