क्यूएस सब्जेक्ट रैंकिंग-2020 में वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी बना देश का नंबर वन प्राइवेट इंस्टीट्यूट

दैनिक भास्कर

Mar 20, 2020, 01:38 PM IST

एजुकेशन डेस्क. हाल ही में आई क्यूएस सब्जेक्ट रैंकिंग-2020 की ताजा रैंकिंग में वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (वीआईटी) को देश के नंबर एक प्राइवेट इंस्टीट्यूट का स्थान हासिल किया है। इतना ही नहीं, इंस्टीट्यूट ने दुनिया के टॉप 450 यूनिवर्सिटीज की सूची में भी जगह बनाई है। जारी लिस्ट में वीआइटी के इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग (ईईई) ने पिछले साल की तुलना में लगभग 150 पायदान की छलांग लगाकर देश के टॉप 10 संस्थान में अपनी जगह बनाने में सफलता पाई है। 

हर साल तैयार की जाती है रैंकिंग
पिछले साल की तुलना में कंप्यूटर साइंस एंड इंफॉर्मेशन सिस्टम्स (सीएस एंड आईएस) और केमिस्ट्री में वीआईटी 50 रैंक ऊपर उठा है। खास बात यह है कि क्यूएस सब्जेक्ट रैंकिंग में संस्थान के केमिकल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल एंड मैन्युफैक्चरिंग को पहली बार जगह मिली है, जिसकी रैंक क्रमश: टॉप 350 और 450 के भीतर है। सब्जेक्ट के आधार पर तैयार की गई क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2020 में कुल 48 डिसिप्लिन को शामिल किया गया है, जिसे मुख्य तौर पर पांच सब्जेक्ट एरिया में बांटा गया है। सब्जेक्ट के मुताबिक यह रैंकिंग हर साल तैयार की जाती है, जिससे स्टूडेंट आगे की पढ़ाई के लिए संबंधित विषय की टॉप यूनिवर्सिटीज का पता लगा सकें। यूनिवर्सिटीज को यह रैंकिंग रिसर्च साइटेशन के अलावा नियोक्ताओं और एकेडमिशियंस के प्रमुख ग्लोबल सर्वे के नतीजों के आधार पर दी जाती है।

एआरआईआईए में भी नंबर वन
वीआइटी को भारत सरकार सेभी लोकप्रिय संस्थान के रूप में सम्मान मिला हुआ है। भारत सरकार के अटल रैंकिंग ऑफ प्राइवेट यूनिवर्सिटी फॉर इनोवेशन अचीवमेंट्स (एआरआईआईए) ने भी इसे नंबर वन रैंकिंग दी गई है। यह इंस्टीट्यूट दुनिया भर की उन टॉप 3 फीसदी यूनिवर्सिटीज में शामिल है, जिसे क्यूएस ग्लोबल वर्ल्ड रैंकिंग हासिल है। इसके अलावा, पिछले साल द टाइम्स हायर एजुकेशन वर्ल्ड रैंकिंग-2019 में भी संस्थान को कंप्यूटर साइंस के लिए शीर्ष 301-400 यूनिवर्सिटीज के बीच स्थान मिला था।
 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top