कोरोना प्रभावित जॉब मार्केट में जा रहे ग्रेजुएट्स की ऐसी हो तैयारी, इन स्ट्रैटजीज पर करें काम

दैनिक भास्कर

Mar 28, 2020, 10:40 AM IST

एजुकेशन डेस्क. यह साल का वह समय है जब अनेक कॉलेज स्टूडेंट्स अपनी डिग्री पूरी करने की तैयारी कर रहे होते हैं। वैसे तो वे इस दौरान उत्साह व उम्मीद से भरे रहते हैं, लेकिन इस बार का माहौल कुछ अलग है और अपने कॅरिअर की शुरुआत करने जा रहे स्टूडेंट्स चिंतित हैं। ऐसा हुआ है पूरे विश्व के कोरोनावायरस (कोविड-19) की चपेट में आने के कारण। दरअसल इससे बचाव में सोशल डिस्टैंसिंग महत्वपूर्ण है और ऐसे में लोग एक दूसरे से मिलने से बच रहे हैं।

जाहिर है कि इसका असर कंपनीज के फेस-टु-फेस इंटरव्यूज पर भी पड़ा है। हायरिंग प्रोसेस के प्रभावित होने के साथ ही इस वैश्विक महामारी से कई देशों की अर्थव्यवस्थाओं को भी नुकसान झेलना पड़ा है जिसके चलते मार्कट में जॉब्स की संख्या में गिरावट देखी जा रही है। मैनेजमेंट कंसल्टिंग फर्म मैकिंसे ने भी अपनी एक रिपोर्ट में 2020 में वैश्विक विकास के धीमे होने की आशंका जताई है। इन सब परिस्थितियों के बीच अपने कॅरिअर की शुरुआत करने में कुछ टिप्स आपकी मदद करेंगे।

फोन-वीडियो के जरिए इंटरव्यू दें
दुनियाभर में कंपनीज के अपने स्टाफ को घर पर काम करने को प्रोत्साहित करने के बीच उन्हें इंटरव्यूज देना मुश्किल हो चुका है, क्योंकि हायरिंग मैनेजर्स भी अब फेस-टु-फेस इंटरव्यूज में रुचि नहीं दिखा रहे। ऐसे में अब ट्रेंड वीडियो व फोन इंटरव्यूज की ओर झुक रहा है। फोन इंटरव्यूज का एक बड़ा फायदा यह है कि आप इस दौरान पहले से लिखे हुए नोट्स को अपने सामने रखकर उनकी मदद ले सकते हैं। इससे आप फोकस्ड रहेंगे आैर विषय से नहीं भटकेंगे। वहीं वीडियो इंटरव्यूज इन-पर्सन मीटिंग जैसा ही अहसास देते हैं। अगर आप वीडियो कॉल्स करते हैं तो यह तरीका आपकाे रास आएगा।

मजबूत करें सोशल मीडिया प्रेजेंस
इस दौरान आप अपनी सोशल मीडिया प्रेजेंस को भी मजबूत कर सकते हैं। इसके लिए एक अच्छी लिंक्डइन प्रोफाइल बनाएं। अब उन कंपनीज के एम्प्लॉईज से कनेक्ट करें जहां आप काम करने के उत्सुक हों। खासकर हायरिंग मैनेजर्स व एचआर प्रोफेशनल्स को टार्गेट करें। इसके अलावा आप अपनी खासियतें बताते हुए पर्सनल वेबसाइट या ब्लॉग भी बना सकते हैं।
कॅरिअर सर्विसेज प्लेटफॉर्म हैडहॉन्चोज के सीईओ देवाशीष चक्रवर्ती ने जाॅब मार्केट में मंदी के दौरान जॉब्स ढूंढने के लिए एक बेहतर प्लान बनाने के कुछ स्टेप्स सुझाए हैं।

जॉब हंटिंग में काम आएंगी ये स्ट्रैटजीज

ई-लर्निंग प्लेटफॉर्म, लैम्बडा स्कूल ने फेस-टु-फेस इंटरव्यूज न होने की स्थिति में अगले कुछ महीनों के दौरान जॉब हंट करने के लिए कुछ स्ट्रैटजीज बताई हैं।

  • अप्लाई करते रहें

इस समय कंपनीज अपने हायरिंग प्रोसेसेज और वेकैंसीज का पुनर्मूल्यांकन कर रही हैं। इनमें से कई रिमोट जॉब्स को खुले मन से स्वीकार रही हैं। ऐसे में अप्लाई करें।

  • रहें रिमोट वर्क के लिए तैयार

इंटरव्यूज में यह बताने को तैयार रहें कि आप इंडिपेंडेंटली या किसी टीम के सदस्य के तौर पर रिमोट वर्क करने के लिए तैयार हैं। इसके लिए आप इंटरव्यूअर्स को अपने रिमोट वर्क सेटअप के साथ इस बारे में भी बता सकते हैं कि आप किस तरह अपने समय का प्रॉडक्टिव इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • धैर्य रखें और फॉलो-अप करें

इस महामारी के समय में अभी भी सभी कंपनीज ने प्रोसेसेज को मैनेज करने के लिए स्ट्रैटजीज नहीं बनाई हैं। ऐसे में हैरान न हों अगर आपकी हायरिंग एप्लिकेशंस के तुरंत जवाब न आएं और फाॅलो-अप करने के लिए तैयार रहें।

  • मल्टी-चैनल अप्रोच अपनाएं

सर्वश्रेष्ठ ऑपर्च्युनिटीज ढूंढने के लिए आप केवल जॉब बोर्ड्स के भरोसे न रहें। रिक्रूटर्स से संपर्क साधें और अपने कॉलेज व स्कूल के एलमनाई नेटवर्क्स का लाभ उठाएं।

  • दिखाएं फ्लेक्सिबिलिटी

मार्केट के डाउन होने की स्थिति में जॉब्स कम होती हैं और एप्लिकेंट्स अधिक। ऐसे में कैंडिडेंट्स को कम सैलरी ऑफर होना स्वाभाविक बात है। इसलिए आपको अपने जॉब रोल व सैलरी के प्रति फ्लेक्सिबल रहना होगा। साथ ही अपने कॉम्पिटीटर्स से आगे रहने के लिए आपको बेहतर एप्टिट्यूड दिखाने के साथ एम्प्लॉयर को यह विश्वास दिलाना होगा कि आप दूसरों के मुकाबले ज्यादा अच्छे परिणाम दे सकते हैं।

  • इनकम को दें प्राथमिकता

ऐसे समय में जब जॉब्स ढूंढना मुश्किल हो रहा है, अपनी जॉब को एक इनकम अर्निंग ऑपर्च्युनिटी के तौर पर देखें। फ्रीलांस असाइनमेंट्स, कॉन्ट्रैक्ट आदि पर भी निगाह रखें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top