केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने पीजी स्टूडेंट्स को दी सलाह, पढ़ाई के लिए ई-पीजी पाठशाला का इस्तेमाल करने को कहा

  • एमएचआरडी द्वारा लॉन्च इस प्लेटफॉर्म पर 70 विषयों में इंटरैक्टिव ई-कंटेंट उपलब्ध है 

  • इससे पहले भी यूजीसी ने ऑनलाइन लर्निंग के लिए जारी की थी सोर्सेस की एक लिस्ट

दैनिक भास्कर

Apr 26, 2020, 10:11 AM IST

देश में कोरोनावायरस के चलते हालात गंभीर बने हुए हैं। इसकी वजह से सभी एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन बंद है, जिसके कारण पढ़ाई का काफी नुकसान हो रहा है। ऐसे में सरकार इस मुश्किल समय में ऑनलाइन प्लटेफॉर्म के जरिए पढ़ाई करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित कर कई तरह के विकल्पों के प्रति जागरूक कर रही है। इसी बीच अब केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने देश के सभी पोस्ट ग्रेजुएट छात्रों को पढ़ाई के लिए ई-पीजी पाठशाला प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने को कहा है। उन्होंने कहा कि एमएचआरडी की तरफ से लॉन्च हुए इस प्लेटफॉर्म पर 70 विषयों में इंटरैक्टिव ई-कंटेंट उपलब्ध है। 

ई-बुक्स और ई-कंटेंट फ्री में उपलब्ध

इस प्लेटफॉर्म के जरिए स्टूडेंट्स फ्री में ई-बुक्स और सिलेबस बेस्ड ई-कंटेंट एक्सेस कर सकते हैं। ई-पीजी पाठशाला की कुछ महत्वपूर्ण विशेषताओं में ई-अध्‍ययन , यूजीसी एमओओसी और ई-पथ्या  शामिल हैं। इससे पहले यूजीसी ने ऑनलाइन लर्निंग के लिए सोर्सेस की एक लिस्ट जारी की थी, जिसमें ई-पीजी पाठशाला को भी शामिल किया गया था। इसमें सोशल साइंस, आर्ट्स, फाइन आर्ट्स, ह्यूमैनिटीज और नेचुरल एंड मैथमेटिक साइंस में 23 हजार से अधिक मॉड्यूल हैं। 

ई-अध्‍ययन        

ई-अध्‍ययन पर देश भर में पढ़ाए जाने वाले सभी पीजी कोर्सेस के लिए 700 से अधिक ई-पुस्तकें उपलब्ध हैं। सभी ई-पुस्तकें ई-पीजी पाठशाला कोर्सेस से ली गई हैं। इस प्लेटफॉर्म पर वीडियो कंटेंट भी उपलब्ध है। 

यूजीसी एमओओसी

ये प्लेटफॉर्म स्वयं प्लेटफॉर्म के लिए पीजी सब्जेक्ट्स के कोर्स का निर्माण करता है। 

ई-पथ्या 

ये प्लेटफॉर्म स्टूडेंट्स को डिस्टेंस लर्निंग और कैंपस लर्निंग मोड के जरिए पीजी लेवल की शिक्षा हासिल करने में मदद करता है। इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद कंटेंट उम्मीदवार ऑफलाइन भी एक्सेस कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top