केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने की विद्यादान-2 कार्यक्रम की शुरुआत, गुणवत्तापूर्ण ई-लर्निंग मटेरियल कराया जाएगा उपलब्ध

दैनिक भास्कर

Apr 24, 2020, 10:16 AM IST

ऑनलाइन शिक्षा के क्षेत्र में बड़ी पहल करते हुए मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने विद्यादान-2 कार्यक्रम की शुरुआत की है। इसका मकसद विभिन्न ऑनलाइन एजुकेशन प्लेटफार्म पर गुणवत्तापूर्ण डिजिटल पाठ्य सामग्री उपलब्ध करवाना है। इसकी शुरुआत करते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि ऑनलाइन शिक्षा को बिना किसी अवरोध के जारी रखने के लिए विद्यादान-2 को शुरू किया गया है।

विद्यादान-2 क्या है ?

विद्यादान एक राष्ट्रीय कार्यक्रम है, जिसके तहत एजुकेशन के अलग-अलग क्षेत्रों से जुड़े लोगों और संगठनों को सिलेबस के अनुसार ई-लर्निंग मटेरियल विकसित करने और इसमें योगदान देने के लिए जोड़ा जायेगा। अगर कोई शिक्षाविद ई-लर्निंग सामग्री विकसित करने में अपना योगदान देना चाहता है, तो वो इस कार्यक्रम के तहत अपना योगदान दर्ज करवा सकता है।

दीक्षा ऐप के जरिए एक्सेस करेंगे स्टूडेंट्स

विशेषज्ञों द्वारा विद्यादान-2 पर आने वाली सामग्री की समीक्षा की जाएगी, जिसके बाद इसे दीक्षा ऐप पर जारी किया जाएगा। दीक्षा ऐप के जरिए ही स्टूडेंट्स इस मटेरियल का एक्सेस कर पाएंगे। राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अपने हिसाब से इस कार्यक्रम की शुरुआत कर सकते हैं। साथ ही इसमें विभिन्न संगठनों, शैक्षणिक संस्थानों और शिक्षकों को जोड़ सकते हैं। यह लोग इस कार्यक्रम के तहत लर्निंग मटेरियल उपलब्ध करा सकते हैं। सरकार के मुताबिक जल्द ही इस कार्यक्रम का लाभ उच्च शिक्षा प्राप्त विद्यार्थियों को भी पहुंचाया जाएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top