किसी विषय को समझने के लिए ऐसी सरल किताब को चुनें, जिसमें बेसिक्स से की गई हो शुरुआत

दैनिक भास्कर

Apr 04, 2020, 01:50 PM IST

एजुकेशन डेस्क. मैं जहां भी सेमिनार के लिए जाता हूं स्टूडेंट्स अक्सर एक सवाल पूछा करते हैं। स्कूल या कॉलेज जाना होता है और फिर शाम को कोचिंग भी। क्या करूं? सेल्फ स्टडी के लिए तो समय ही नहीं मिलता है। आज जब पूरी दुनिया के साथ-साथ हम लोगों का देश भी कोरोना वायरस के संकट के दौर से गुजर रहा है और इस महामारी से बचने के लिए हम लोग लॉकडाउन हैं। तब यही सही वक्त है जब इस समय का सदुपयोग सेल्फ स्टडी के लिए कर सकते हैं। मैं हमेशा अपने स्टूडेंट्स से कहा करता हूं कि ‘सेल्फ स्टडी इज दी बेस्ट स्टडी’। मैंने अपनी जिंदगी में इसे अनुभव भी किया है। 

बार-बार प्रयास जरूरी
कई बार ऐसा होता है जब आप कोई सवाल का हल खोजते हैं और आप असफल हो जाते हैं। फिर आपके शिक्षक उस सवाल का न सिर्फ हल बताते हैं, बल्कि अच्छी तरह से आपको समझा भी देते हैं। लेकिन होता क्या है? अगर आप बार-बार उसे न दोहराएं तब आप कुछ ही दिनों में उसे भूल जाते हैं। अब आप कोई ऐसी घटना याद करें कि कोई सवाल का हल आपको नहीं मिल रहा होता है और फिर भी बार-बार प्रयास करके आप खुद ही हल ढूंढ लेते हैं। तब उसे आप कभी नहीं भूलते हैं। दरअसल किसी दूसरे द्वारा समझाई गईं बातें उधार लिया हुआ ज्ञान जैसा होता है, जबकि स्वयं अपने अनुभव के आधार पर निष्कर्ष तक पहुंचने के बाद मिला हुआ ज्ञान आपका अपना होता है।

कोशिश करने से मिलेंगे नए तरीके
मैं अपने अनुभव के आधार पर आप लोगों को एक बात और बताना चाहूंगा। कई बार ऐसा होता है जब मैं क्लास में कोई सवाल हल करने के लिए देता हूं और कुछ देर के बाद उसका हल बता देता हूं। कुछ दिनों के बाद जब मैं दोबारा उस सवाल को पूछता हूं तब कुछ स्टूडेंट या तो उसे भूल जाते हैं या फिर उसी तरीके से हुबहू उसे हल करके दिखाते हैं, जैसे मैंने बताया है। लेकिन अगर मैं कोई सवाल पूछता हूं, स्टूडेंट्स को और थोड़ा ज्यादा समय भी दे देता हूं। तब मुझे उस समय बड़ा आश्चर्य होता है कि स्टूडेंट्स कई अलग-अलग नये तरीकों से सवाल का हल निकालकर दिखाते हैं, जिसे मैंने भी कभी नहीं सोचा था। निष्कर्ष यह कि जब आप खुद से प्रयास करेंगे तब कई नई बातें आपके दिमाग में आएंगी।

कैसे करें सेल्फ स्टडी
अब हम लोग इस विषय पर आते हैं कि सेल्फ स्टडी किया कैसे जाए। आपको जो भी विषय पढ़ना है, समझना है, उस विषय की सबसे सरल एक ऐसी किताब का चयन करें जिसमे विषय को एकदम शुरू से शुरू किया गया है। पढ़ें और समझने का प्रयास करें। हो सकता है कई दफा बातें समझ में न आयें। कोई बात नहीं। फिर से पढ़ें। उसे बार-बार पढ़ें। बावजूद इसके अगर बातें समझ में नहीं आ रहीं हैं तब उसी विषय पर निचले कक्षा की किताबें पढ़ें। सब्जेक्ट अगर समझ में आ गया तब तो ठीक है अगर अभी भी परेशानी हो रही है तब आप गूगल और यूट्यूब का सहारा ले सकते हैं। मेरा यकीन है जरूर फायदा होगा। मैंने अपनी जिंदगी से सीखा है कि मेहनत कभी बेकार नहीं जाती है। अगर आप सेल्फ स्टडी करते हैं तब न तो आपके पास कोई समय का बंधन होगा और न आप किसी का दवाब महसूस करेंगे। इस लॉक डाउन में अगर आप सेल्फ स्टडी करके फायदा उठाना सीख गए तब आपके पास एक नई ताकत होगी। आप कभी भी सेल्फ स्टडी के जरिये कुछ भी सीख सकते हैं। और सबसे बड़ी बात यह है कि सेल्फ स्टडी आपके सेल्फ कॉन्फिडेंस को भी बढाएगा। फिर सोच क्या रहें हैं ? चलिए सेल्फ स्टडी शुरू करते हैं और इस संकट के दौर को भी अवसर में बदलते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top