आईआईटी कानपुर, जामिया और जेएनयू ने स्टूडेंट्स को हॉस्टल खाली करने के निर्देश दिए

दैनिक भास्कर

Mar 18, 2020, 09:49 AM IST

एजुकेशन डेस्क. देश में लगातार तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस को देखते हुए आईआईटी दिल्ली के बाद अब आईआईटी कानपुर, जामिया मिलिया इस्लामिया और जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी ने भी अपने सभी स्टूडेंट्स को हॉस्टल खाली करने का आदेश दिया है। कोरोना के प्रकोप के चलते देश के कई राज्यों में स्कूल-कॉलेज समेत सभी शिक्षण संस्थानों को 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है। ऐसे में अब इन बड़ी यूनिवर्सिटीज ने भी स्टूडेंट्स को हॉस्टल खाली कर जल्द से जल्द घर जाने के निर्देश दिए हैं।

19 मार्च तक हॉस्टल खाली करने के आदेश 
सोमवार को आईआईटी कानपुर के डिप्टी डायरेक्टर मनिंद्र अग्रवाल ने कहा कि कोरोना को लेकर देश में बन रहे हालात को देखते हुए सभी स्टूडेंट्स को 19 मार्च तक हॉस्टल खाली करने के आदेश दिए गए हैं। सिर्फ पीएचडी, एम.टेक/एम.डेस/एसएस सेकंड ईयर और डूयल डिग्री के पांचवें साल में पढ़ रहे स्टूडेंट्स ही 19 तारीख के बाद हॉस्टल में रह सकते हैं।  

सीमित संख्या में रहने की इजाजत
इधर, जेएनयू रजिस्ट्रार प्रमोद कुमार ने सोमवार को कहा कि हॉस्टल में कुछ नियम-शर्तों के साथ सीमित संख्या में लोगों को रहने दिया जाएगा,जिनमें फॉरेन नेशनल और अन्य जरूरी वजह से वापस लौटे स्टूडेंट्स शामिल हैं। बाकी सभी स्टूडेंट्स को जल्द ही  हॉस्टल खाली कर घर लौटने की सलाह दी गई है। इससे पहले यूनिवर्सिटी ने 31 मार्च तक सभी क्लासेस, कैंटीन, योग सेंटर, जिम आदि को बंद कर दिया है।

टीचर्स को मिलेगा वर्क फ्रॉम होम
वहीं, रविवार को जामिया प्रबंधन ने कहा कि बड़ी संख्या में भीड़ जमा होने से रोकने के लिए सभी क्लासेस, कैंटीन,लाइब्रेरी आदि को बंद कर दिया गया है, ऐसे में प्रबंधन की तरफ से सभी स्टूडेंट्स को हॉस्टल खाली करने को कहा गया है। इसके साथ ही दिल्ली यूनिवर्सिटी के टीचर्स की वर्क फ्रॉम होम की मांग को मानते हुए यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार ने टीचर्स को इसकी इजाजत दे दी है।

देश में अब तक 127 मामले 
देश के 5 राज्यों में फैल चुके कोरोना वायरस के अब तक 127 मामले सामने आ चुके हैं। इसको लेकर कई राज्यों के स्कूल-कॉलेज समेत मॉल,सिनेमा घर आदि को बंद कर दिया गया है। इसके साथ ही आईआईटी दिल्ली ने भी 31 मार्च तक सभी क्लासेस स्थगित करते हुए स्टूडेंट्स को हॉस्टल खाली करने के निर्देश दिए थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top