आईआईएम इंदौर औऱ रेनेसां यूनिवर्सिटी के फाइव इयर इंटीग्रेटेड आईपीएम कोर्स की स्टूडेंट्स के बीच सर्वाधिक डिमांड

  • वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों पर जीत प्राप्त करने के लिए रेनेसां यूनिवर्सिटी ने फाइव इयर इंटीग्रेटेड आईपीएम कोर्स को डिज़ाइन किया है

दैनिक भास्कर

May 31, 2020, 03:23 PM IST

नए सेशन के लिए फाइव इयर इंटीग्रेटेड कोर्स आईपीएम स्टूडेंट्स के बीच चर्चा का विषय  बना हुआ है। आईआईएम इंदौर के पश्चात रेनेसां यूनिवर्सिटी का आईपीएम कोर्स छात्रों के बीच सबसे ज्यादा मांग में है। आईपीएम कोर्स का पाठ्यक्रम इस प्रकार से बनाया गया है कि उसमें वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए स्टूडेंट्स को तैयार और सक्षम किया जा सके।

 

रेनेसां यूनिवर्सिटी के फाइव इयर इंटीग्रेटेड आईपीएम कोर्स में तीन निशुल्क इंटर्नशिप भी दी जाती है। ये तीनों इंटर्नशिप भारत के मेट्रो शहर में एक-एक महीने के समय के लिए होती है। रेनेसां यूनिवर्सिटी के चांसलर ,विख्यात शिक्षाविद् स्वप्निल कोठारी (Name is correct in hindi) ने बताया कि आईपीएम कोर्स के छात्रों के लिए इस वर्ष यूनिवर्सिटी ने हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल और स्टेनफोर्ड जैसी नामचीन इंटरनेशनल यूनिवर्सिटीज से टाईअप किया है जिससे छात्र न केवल इनके ऑनलाइन कोर्सेस को निशुल्क पढ़ सकेंगे बल्कि इंटरनेशनल फेकल्टी के द्वारा उन्हें ऑनलाइन टीचिंग और गाइडेंस भी मिलेगा।

रेनेसां यूनिवर्सिटी में चलने वाले फाइव इयर इंटीग्रेटेड कोर्स आईपीएम का पाठ्यक्रम वर्तमान और भविष्य को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है औऱ साथ ही इंट्रेस्टिंग और इंटेंसिव स्टूडेंट लर्निंग को इसमें जोड़ा गया है। लीडरशिप आधारित क्रियाकलापों के द्वारा जहाँ छात्र एक ओर नेतृत्व के गुणों औऱ निपुणता से परिचित होकर लीडरशिप सीखते हैं वहीं आउटडोर एक्टिविटीज के द्वारा जिंदगी को करीब से समझने का नज़रिया भी  हासिल करते हैं।

 

एडवांस्ड एमएस एक्सेल ट्रेनिंग उनके एनालेसिस औऱ प्रेजेंटिंग पॉवर को स्ट्रांग करती है तो मूवी औऱ नॉवेल बेस्ड लर्निंग्स इंटरटेनमेंट बेस्ड लर्निंग्स को इन्हेंस करती है।

 

इंडस्ट्री के टॉप लीडर्स से वन-टू-वन इंटरेक्टिव सेशंस छात्रों को सफल  पर्सनाल्टिज को करीब से समझने में हेल्प करता है तो मोस्ट सक्सेसफुल इंडियन और इंटरनेशनल बिजनेस हाउसेस की केस स्टडी उनके रिसर्च औऱ एनालेसिस पॉवर को नए स्तर तक ले जाती है।

आईपीएम कोर्स के सिलेबस की क्वालिटी अन्य कोर्सेस के मुकाबले बहुत बेहतर है। इससे मेधावी छात्रों का  झुकाव इस कोर्स की ओऱ ज्यादा है। अच्छी क्वालिटी के स्टूडेंट्स मिलने से आईपीएम में पढाई का स्तर भी उच्च हो जाता है औऱ इसके कारण छात्रों को उच्च गुणवत्ता कि पढाई और सिखने  का वातावरण मिलता है।

 

रेनेसां यूनिवर्सिटी के आईपीएम स्टूडेंट अंशिका भदौरिया ने कहा कि इस कोर्स को चुनने का उनका निर्णय रेनेसां कैंपस में आकर बहुत ही बेहतर महसूस हो रहा है। इंटरनेशनल स्टूडेंट मुस्तफा कसारा ने कहा कि रेनेसां यूनिवर्सिटी की पढाई इंटरनेशनल स्तर की है। प्रसिद्ध आईआईटीयंस, आईआईएम की फैकल्टी और इंटरनेशनल फैकल्टी से पढ़ने का अनुभव  एक अलग की स्तर पर ले जाता है। खुशी दवे का कहना था कि यहां की फैकल्टी बहुत ही इनोवेटिव औऱ इंटरेस्टिंग तरीके से सिलेबस को कब पढ़ा देती है पता ही नहीं चलता। अभय मिश्रा ने बताया कि रेनेसां कैंपस में पढ़कर उन्हें अपने नॉलेज लेवल के साथ-साथ इमोशनल इंटेलिजेंस औऱ इनर पॉवर को मजबूत करने में हेल्प मिली।  

उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी के चलते इस साल विदेश न जा सकने वाले मेरिटोरियस स्टूडेंट्स के बीच आईपीएम कोर्स सबसे ज्यादा मांग में  बना हुआ है।

6 thoughts on “आईआईएम इंदौर औऱ रेनेसां यूनिवर्सिटी के फाइव इयर इंटीग्रेटेड आईपीएम कोर्स की स्टूडेंट्स के बीच सर्वाधिक डिमांड”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top