अब स्टूडेंट्स का बाहर जाना कम होगा, नए सेशन में प्रेस्टीज और रेनेसां जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों में रहेगी एडमिशन की मारामारी

  • प्रतिभाशाली और मेरिटोरियस स्टूडेंट्स अब इंदौर के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों का रूख कर रहे हैं
  • प्रेस्टीज और रेनेसां अपनी रीजनेबल फीस और हायर एजुकेशनल क्वालिटी के लिए ब्रांड बन चुके हैं

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 09:48 PM IST

इंदौर. अगस्त 2020 से शुरू हो रहे शैक्षणिक सत्र के लिए शहर के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों में अभी से अच्छे कोर्सेस में एडमिशन के लिए पूछताछ शुरू हो गई है। इन कोर्सेस में लिमिटेड सीटें होने के कारण इनके जल्द ही भर जाने की संभावना है।

पैरेंट्स-स्टूडेंट्स के बीच करवाए गए एक सर्वे के अनुसार इस साल अमेरिका-ब्रिटेन, मुंबई-बेंगलुरू और पुणे के शैक्षणिक संस्थानों की ओऱ छात्रों का रूख न के बराबर होगा क्योंकि कोविड-19 महामारी के कारण न तो पैरेंट्स अपने बच्चों को बाहर भेजने का जोखिम उठाएंगे और न ही स्टूडेंट्स अपने घर से इतना दूर जाने की हिम्मत करेंगे।

इंदौर और आसपास के प्रतिभाशाली और मेरिटोरियस स्टूडेंट्स अब इंदौर के ही प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों का रूख कर रहे हैं। इनमें भी प्रेस्टीज और रेनेसां पर फोकस सबसे ज्यादा है। ये दोनों शिक्षण संस्थान अपनी रीजनेबल फीस और हायर एजुकेशनल क्वालिटी के लिए मध्यभारत में ब्रांड बन चुके हैं।

ये संस्थान शहर में ही राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय फैकल्टी के द्वारा ऑनलाइन टीचिंग भी संचालित कर रहे हैं। दोनों की तुलना में रेनेसां का फीस स्ट्रक्चर किफायती है। उल्लेखनीय है कि प्रत्येक एजुकेशनल सेशन में इन्हीं दोनों संस्थानों में सीटें सबसे पहले फुल होती है और स्टूडेंट्स के बीच कॉम्पीटिशन रहता है। हालांकि इस साल बाहर जाकर पढ़ने की स्थितियां न के बराबर हैं, इसलिए उन विद्यार्थियों का रूख भी रेनेसां और प्रेस्टीज की ओर ही होगा।

प्रेस्टीज के बीबीए फॉरेन ट्रेड, बीकॉम ऑनर्स और बीए मास कम्युनिकेशन कोर्सेस की मांग स्टूडेंट्स में सबसे ज्यादा है। रेनेसां में फाइव ईयर इंटीग्रेटेड कोर्स आईपीएम और थ्री ईयर बीए साइकोलॉजी और बीए अप्लाइड इकोनॉमिक्स के लिए स्टूडेंट सबसे ज्यादा जानकारी ले रहे हैं। रेनेसां ने इस हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से भी टाई अप कर लिया है। ऐसे में रेनेसां में रहकर ही अंतर्राष्ट्रीय कोर्स भी निःशुल्क कर पाने का फायदा स्टूडेंट्स को मिलने लगेगा। इसे लेकर पेरेंट्स-स्टूडेंट्स भी उत्साहित हैं।

दोनों ही संस्थानों में पॉप्युलर कोर्सेस की सीटें सीमित हैं, इसलिए नए सेशन में एडमिशन शुरू होते ही सीटें पिछले साल की तुलना में बहुत जल्द भर जाने की संभावना है। एडमिशन प्रक्रिया मेरिट के आधार पर की जाती है इसलिए स्टूडेंट्स/पैरेंट्स ने अभी से अच्छे कोर्सेस में दाखिले के लिए एप्रोच करना शुरू किया है।

प्रेस्टीज जहां अपने कड़े अनुशासन और कॉन्फ्रेन्सेस के लिए जाना जाता है, वहीं रेनेसां इनोवेटिव सोच, प्रैक्टिकल लर्निंग औऱ स्टूडेंट्स बेस्ड एक्टिविटीज जैसे थिएटर, डांस, म्यूजिक और क्रिएटिविटी के लिए जाना जाता है। 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top