अब बिना बैग के स्कूल जाएंगे स्टूडेंट्स, सीबीएसई स्कूलों के बच्चों ने ‘नो बैग डे’ को बताया ‘राइट चॉइस’

दैनिक भास्कर

Feb 21, 2020, 06:14 PM IST

एजुकेशन डेस्क. सरकार ने अपने बजट में एजुकेशन सेक्टर में बच्चों के लिए राहत भरी घोषणा की है। उन्होंने गवर्नमेंट स्कूलों में शनिवार को ‘नो बैग डे’रखने की बात कही। यानी इस दिन स्कूल में बच्चे बैग नहीं लाएंगे, बल्कि खेल-खेल में को-करिकुलम एक्टिविटीज से सीधे जुड़ने का मौका मिलेगा। इस पहल पर शहर के प्राइवेट और गवर्नमेंट स्कूलों के डायरेक्टर व प्रिंसिपल्स ने सहमति जताते हुए कहा कि ये काफी सराहनीय कदम है। इससे बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ दूसरी गतिविधियों से जुड़कर नया सीखने का मौका मिलेगा। यानी इससे उनका ओवर ऑल डेवलपमेंट होगा। 
प्राइवेट स्कूलों के डायरेक्टर्स ने कहा- यह पहल काफी अच्छी है। इसे वे अपने स्कूलों में एकेडमिक काउंसिल से डिस्कस करके लागू करेंगे। इस पहल से स्टूडेंट्स, पैरेंट्स और टीचर्स के बीच डायरेक्ट कनेक्टिविटी बढ़ेगी। स्कूली बच्चों ने भी सरकार के निर्णय को “राइट चॉइस” बताया है।

शनिवार को ‘फन डे’ के दिन बच्चे नहीं लाते बैग : नीलम सिंह
केंद्रीय विद्यालय-4 की प्रिंसिपल नीलम सिंह ने बताया कि हमारी ऑर्गेनाइजेशन से ग्रीन सिग्नल मिलने पर यकीनन हम स्कूल में ‘नो बैग डे’शुरू कर सकते हैं। केवी में पहले से शनिवार को ‘फन डे’होता है। बच्चे बैग लेकर नहीं आते हैं।

टीचर-पैरेंट्स के बीच बढ़ेगी कनेक्टिविटी : लता रावत
कैम्ब्रिज कोर्ट वर्ल्ड स्कूल की मेंटर लता रावत के मुताबिक स्कूलों के लिए ‘नो बैग डे’ की पहल सराहनीय है, क्योंकि इससे स्टूडेंट्स, पैरेंट्स और टीचर्स के बीच सीधी कनेक्टिविटी बढ़ेगी।

स्कूलों में हम नए सेशन से करेंगे प्रयोग : डॉ. अशोक गुप्ता
आईआईएस डीन यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ. अशोक गुप्ता का कहना है कि ‘नो बैग डे’की पहल का स्वागत करते हैं। सरकारी स्कूलों को इससे एक नई दिशा मिलेगी। बड़ी कक्षाओं के लिए नए सेशन से प्रयोग किया जा सकता है।

को-करिकुलम एक्टिविटीज से जुड़ेंगे बच्चे : डॉ. रुचिरा
टैगोर ग्रुप की सीईओ डॉ. रुचिरा सोलंकी ने बताया कि ‘नो बैग डे’ से स्टूडेंट्स को बाकी एक्टिविटीज में भाग लेने का मौका मिलेगा। उस एक दिन में आप लेक्चर, सेशन, टॉक शो, विजिट जैसी एक्टिविटीज में बच्चों को शामिल कर सकते हैं।

पर्सनैलिटी डेवलपमेंट के लिए अच्छी पहल : जयश्री पेड़ीवाल
जयश्री पेड़ीवाल स्कूल की डायरेक्टर ने बताया कि बजट में स्कूलों के लिए आए नियमों से बच्चों पर प्रेशर कम होगा। अगलेे सेशन से हम भी शनिवार को ‘नो बैग डे’ मनाएंगे। पर्सनैलिटी डेवलप करने की यह पहल अच्छी है।

स्टडी करके अगले सत्र में लागू करेंगे ‘नो बैग डे’ : डॉ. संदीप बख्शी
जेएनयू चांसलर डॉ. संदीप बख्शी के मुताबिक, ‘नो बैग डे’ काफी सराहनीय कदम है। यकीनन इससे बच्चों को खेल-खेल में सीखने का मौका मिलेगा। एकेडमिक काउंसिल से डिस्कस करके ‘नो बैग डे’इनिशिएटिव को अगले सत्र से लागू करेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top